अवकाश नियम

नियम-93 1-अर्द्ध-वेतन एवं रूपांतरित अवकाश की देयता-

1-1-राज्य कर्मचारी को प्रत्येक पूर्ण वर्ष की सेवा पर 20 दिन का अर्द्ध-वेतन अवकाश प्राप्त होगा।

1-2-कर्मचारी को देय अर्द्ध-वेतन अवकाश चिकित्सा-प्रमाण-पत्र या निजी कारणों से स्वीकृत किए जा सकते हैं।

2-एक स्थाई कर्मचारी उसको देय अर्द्ध-वेतन अवकाशों की आधी संख्या तक रुपांतरित(commuted) अवकाश अपनी स्वयं की बीमारी के आधार पर स्वीकृत करा सकता है (अर्द्ध-वेतन अवकाशों का आधी संख्या में पूर्ण वेतन पर रूपान्तरण)। इसके लिए कर्मचारी को एक प्राधिकृत चिकित्सक से रोग-प्रमाण-पत्र(sickness certificate) प्राप्त कर प्रस्तुत करना होगा।

रुपांतरित अवकाश स्वीकृति की शर्तें-

1- कर्मचारी को रुपांतरित अवकाश स्वीकृत करने पर उसके अवकाश लेखों से दुगुनी संख्या में अर्द्ध-वेतन अवकाश घटा(debit) दिए जाएंगे।

2-1 अवकाश स्वीकृतिकर्ता अधिकारी को इस बात से संतुष्ट होना चाहिए कि अवकाश समाप्ति पर उस कर्मचारी के सेवा पर उन्हें उपस्थित होने की पूर्ण संभावना है।

2-2 देय अर्द्ध-वेतन अवकाशों में से 180 दिन तक के अर्द्ध-वेतन अवकाशों को एक समय में चिकित्सक के प्रमाण पत्र के बिना, सार्वजनिक हित में अनुमोदित पाठ्यक्रम के लिए, रुपांतरित अवकाशों के रूप में स्वीकृत किया जा सकता है।

3-किसी स्थाई कर्मचारी को अदेय अवकाश(Leave not due) स्वीकृत किए जाने की शर्तें इस प्रकार है-

3-1- अवकाश स्वीकृत करने वाला प्राधिकारी संतुष्ट हो कि वह कर्मचारी अदेय अवकाशों की समाप्ति के बाद सेवा पर पुनः उपस्थित हो जाएगा,

3-2- अदेय अवकाशों की संख्या उस अनुमानित संख्या तक ही होनी चाहिए जो कर्मचारी द्वारा अवकाश से लौटकर अर्द्ध-वेतन अवकाश के रूप में अर्जित की जा सके,

3-3- कर्मचारी के संपूर्ण सेवा काल में अधिकतम 360 दिन का अदेय अवकाश दिया जा सकेगा। एक बार में 90 दिन तक तथा चिकित्सा-प्रमाण-पत्र के आधार के अतिरिक्त अन्य आधार पर 180 दिन तक का ही अदेयअवकाश स्वीकृत किया जा सकेगा।

3-4-अदेय अवकाश करमचारी के अर्द्ध-वेतन अवकाश के खाते में डेबिट किए जाएंग तथा उन्हें कर्मचारी द्वारा भविष्य में अर्जित किए जाने वाले अर्द्ध-वेतन अवकाश से समायोजित किया जाएगा।

4- एक कर्मचारी जिसे संबंधित सेवा नियमों के अंतर्गत अथवा सेवा नियम नहीं होने पर सक्षम राजकीय आदेश के अंतर्गत अस्थाई रूप से नियुक्त किया गया है तथा जो उस पद की शैक्षणिक योग्यता एवं अनुभव की पात्रता पूर्ण करता है, उसे 3 वर्ष की सेवा पूर्ण करने के पश्चात रुपांतरित अवकाश तथा अदेय अवकाश स्वीकृत किए जा सकेंग।

5-यदि किसी कर्मचारी को रुपांतरित अवकाश अथवा अदेय अवकाश स्वीकृत किया गया हो और उसकी सेवा में रहते हुए मृत्यु हो जाए अथवा उसे राजस्थान सिविल सेवा (पेंशन) नियम 1996 के नियम 35 के अंतर्गत असमर्थता के आधार पर सेवानिवृत कर दिया जाए तो अवकाश वेतन संबंधी कोई वसूली नहीं की जाएगी। अन्य मामलों जैसे त्यागपत्र, स्वैच्छिक सेवानिवृति, सेवा से निष्कासन या बर्खास्तगी आदि में अवकाश वेतन की नियमानुसार वसूली की जाएगी।

नियम 94 – सेवा समाप्ति अवकाश –

ऐसे अवकाश सामान्य तौर पर अस्थाई कर्मचारियों को ही स्वीकृत किये जाते है। सक्षम अधिकारी ऐसे अवकाशों को अपने विवेक के आधार पर स्वीकृत कर सकता है। इस नियम के तहत शिक्षार्थी को यह लाभ देय नही होता है।

*?? शैक्षिक समाचार ??*

नियम 95 – अवकाश अवधि सेवा व्यवधान नही है –

सामान्य तौर पर यदि कोई अस्थायी कर्मचारी अपने पद के समान संवर्ग में ही स्थायी रूप से नियुक्त है तो उसकी पिछली सेवा अवकाश अवधि के तहत माना जायेगा।

*?? शैक्षिक समाचार ??*

नियम 96 – असाधारण अवकाश –

साधारण तौर पर कर्मचारी असाधारण अवकाश तभी स्वीकृत कराता है, जब उसके अवकाश खाते में किसी भी तरह के अवकाश शेष न हो। दिनांक 26.02.2002 के बाद अस्थायी कर्मचारी को असाधारण अवकाश तभी मिलता है, जब उसने 03 वर्ष की सेवा की है। अस्थायी कर्मचारियों को अधिकतम 18 माह का असाधारण अवकाश देय है। दिनांक 01.01.2007 के बाद परिवीक्षाधीन अवधि में अधिकतम 03 माह का असाधारण अवकाश देय है। विपरीत परिस्थितियों में असाधारण अवकाश परिवीक्षाधीन कर्मचारियों को 03 माह से अधिक भी स्वीकृत है। 03 माह से अधिक यदि कोई कर्मचारी असाधारण अवकाश ले तो अधिक ली गई अवधि उसके परिवीक्षाधीन काल को प्रभावित करती है।

?? शैक्षिक समाचार ??

नियम 99 – विशेष असमर्थता अवकाश -(दिनांक 14.12.12 के बाद) घर से कार्यालय व कार्यालय से घर ड्यूटी नही माना गया है। दिनांक 18.05.2010 के बाद चुनाव में ड्यूटी घर से निकलते ही मानी जाती है। इस नियम के तहत सरकारी कर्मचारी को कार्यस्थल पर यदि कोई क्षति हो जाती है तो क्षति होने के तीन माह तक आवेदन पत्र देकर विशेष असमर्थता अवकाश का लाभ उठा सकता है। सामान्य तौर पर विशेष असमर्थता अवकाश अधिकतम 24 माह तक देय होता है। यदि 24 माह उपरांत भी कर्मचारी की स्थिति में कोई सूधार न हो तो चिकित्सा रिपोर्टो के आधार पर अवधि को आगे बढ़ाया जा सकता है। *विशेष असमर्थता अवकाश के दौरान वेतन* – उच्च सेवा में 120 दिन अवकाश- पूर्ण वेतन उच्च सेवा में 120 दिन से अधिक अवकाश- अर्द्ध वेतन चतुर्थ श्रेणी सेवा मंे 60 दिन अवकाश- पूर्ण वेतन चतुर्थ श्रेणी सेवा में 60 दिन से अधिक अवकाश- अर्द्ध वेतन

?? शैक्षिक समाचार ??

नियम 100 – असमर्थता अवकाश

इसके के दौरान सरकार द्वारा कोई क्षतिपूर्ति भत्ता स्वीकृत होने पर वेतन में कटौती – इस नियम के तहत यदि असमर्थता अवकाश के दौरान क्षतिपूर्ति भत्ता मिले तो भत्ते के बराबर की राशि कर्मचारी के वेतन में से काट ली जाती है। कर्मचारी के व्यक्तिगत बीमा दावों पर इस नियम का कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।

*?? शैक्षिक समाचार ??*

*नियम 103 – प्रसुति अवकाश -*

(दिनांक 06.12.2004 से प्रभावी) महिला कर्मचारियों को सम्पूर्ण सेवाकाल में 02 बार अधिकतम 180 दिन का प्रसुति अवकाश मिलता है। 02 बार के बाद भी कोई संतान जीवित न हो तो एक बार और मिल सकता है। दिनांक 11.10.2008 के बाद प्रसुति अवकाश अवधि 135 दिन से बढ़कर 180 दिन की गई है। दिनांक 06.12.2004 के बाद ये अवकाश अस्थायी महिला कर्मचारी को भी देय है। किसी भी कर्मचारी को पूर्ण वेतन व भत्ते देय है। सामान्य तौर पर गर्भपात पर यह अवकाश स्वीकृत नहीं किया जा सकता है। चिकित्सा रिपोर्ट के आधार पर विपरीत परिस्थितियों में 06 सप्ताह तक का अवकाश स्वीकृत किया जा सकता है। (दिनांक 14.07.2006 के बाद से)

*?? शैक्षिक समाचार ??*

*नियम 103(अ) – पितृत्व अवकाश –

(दिनांक 06.12.2004 से) किसी पुरूष के प्रथम दो संतानों पर उसे बच्चे के जन्म के 15 दिन पूर्व व 03 माह के भीतर 15 दिन का अवकाश मिलता है।

*नियम 103(ब) – दत्तक अवकाश – * (दिनांक 07.12.2011 से) किसी महिला कर्मचारी को 180 दिन का अवकाश सेवाकाल में दो बार ही।01 साल से कम आयु के बच्चे को गोद लेने पर मिलता है।

*?? शैक्षिक समाचार ??*

*नियम 104 – प्रस्तावित अवकाश की निरन्तरता में अन्य अवकाशों का संयोजन – * प्रसूति/पितृत्व अवकाश किसी भी प्रकार के अवकाश से संयोजित कर स्वीकृत किए जा सकते है।

*?? शैक्षिक समाचार ??*

*नियम 105 – पृथक श्रेणी का अवकाश/चिकित्सालय अवकाश की सीमा –

सामान्य तौर पर यह अवकाश उन्हीं कर्मचारियों को स्वीकृत होता है, जो राज. सरकार के लिए किसी हानिकारक संयत्रों या हानिकारक प्रयोगशाला में नियुक्त हो। ये अवकाश चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को ही लागु होता है।

?? शैक्षिक समाचार ??

नियम 106 -नियम 105 के अवकाश उन्हीं कर्मचारियों को स्वीकृत होते है जिनका वेतनमान 12000 रू तक देय हो। (दिनांक 01.01.2007 से लागु) दिनांक 12.09.2008 के आधार पर सभी वेतन वृद्धियां मान्य।

?? शैक्षिक समाचार ??

नियम 108 – अवकाश की निरन्तरता में अन्य अवकाशों का संयोजन –

चिकित्सालय अवकाश अन्य प्रकार के अवकाश के संयोजन में स्वीकृत किये जा सकते है।

?? शैक्षिक समाचार ??

नियम 109 – अध्ययन अवकाश –

यह नियम केवल अध्ययन अवकाश से सम्बन्धित है। सरकार के निर्देश पर किसी विशेष कार्य को करने या तकनीकी सेवाओं से सम्बन्धित अनुसंधान के लिए विदेश में प्रतिनियुक्त किये गये कर्मचारियों पर यह नियम लागू नहीं होते है। ऐसे प्रकरण नियम 51 के अन्तर्गत गुणावगुण के आधार पर निस्तारित किए जायेंगें।

?? शैक्षिक समाचार ??

नियम 110 – अध्ययन अवकाश की देयता –

* किसी भी कर्मचारी को अपने सम्पूर्ण सेवा काल में अधिकतम 02 वर्ष का अध्ययन अवकाश स्वीकृत किया जा सकता है। एक बार में अधिकतम 12 माह का अध्ययन अवकाश स्वीकृत किया जा सकता है।

?? शैक्षिक समाचार ??

नियम 112 – अध्ययन अवकाश स्वीकृत करने की शर्तें –

अध्ययन अवकाश राज्य सरकार के सभी कर्मचारियों को देय है। अस्थायी कर्मचारी जो विभाग में न्यूनतम 03 वर्ष की सेवा पूर्ण कर चुके हो तथा ऐसी अस्थायी नियुक्तियां आरपीएससी की अभिशंषा के आधार पर होनी अनिवार्य है। 20 वर्ष से ज्यादा सेवा पूर्ण कर चुके कर्मचारियों को अध्ययन अवकाश देय नहीं होता है। अध्ययन अवकाश के दौरान विभाग से अनुपस्थिति- 24 माह + 04 माह (खाते के अवकाश) – 28 माह 24 माह + 06 माह (असाधारण अवकाश): 30 माह अध्ययन अवकाश के दौरान सदैव अर्द्ध वेतन मिलता है।

?? शैक्षिक समाचार ??

नियम 113 – अध्ययन अवकाशों की निरन्तरता में अन्य अवकाशों का समायोजन –

एक कर्मचारी को यदि किसी अन्य अवकाश के साथ अध्ययन अवकाश स्वीकृत किया जाता है तो उसे अपना अध्ययन अवकाश ऐसे समय पर लेना चाहिए जिससे वह अपने अवकाश खाते में उतना बैलेंस बनाएं रख सके जो उसके सेवा पर लौटने तक के लिए पर्याप्त हो। ?? शैक्षिक समाचार ?? नियम 114 – अध्ययन अवधि के अध्ययन अवकाश से ज्यादा होने पर प्रक्रिया – * कर्मचारी अपने खाते के अवकाश या असाधारण अवकाश ले सकता है।

?? शैक्षिक समाचार ??

नियम 115 – अध्ययन अवकाश के लिए आवेदन पत्र –

अध्ययन अवकाश के लिए आवेदन पत्र लेखाधिकारियों या सहायक लेखाधिकारियों को दिये जाते है। आगे की स्वीकृति के लिए लेखाधिकारी जांच के बाद आवेदन पत्र विभागाध्यक्ष को भेजता है। *?? शैक्षिक समाचार ??* नियम 116 – अध्ययन अवकाशों के साथ अन्य अवकाशों का समायोजन – * यूरोप या अमेरिका में अवकाश का उपभोग कर रह कोई कर्मचारी यदि इस अवकाश के दौरान कोई पाठ्यक्रम करना चाहे तो और इसके लिए अपने अवकाश के किसी भाग को अध्ययन अवकाश में परिवर्तित करवाना चाहे तो अध्ययन प्रारम्भ करने से पूर्व उसे अपने प्रस्तावित अध्ययन कार्यक्रम को पाठ्यक्रम के साथ प्रस्तुत करना चाहिए।

?? शैक्षिक समाचार ??

नियम 117 – अध्ययन भत्ता –

यदि कर्मचारी के द्वारा किया जा रहा अध्ययन सरकारी दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण हो तो सरकार कर्मचारी को अध्ययन अवधि के दौरान अलग से अध्ययन भत्ता स्वीकृत कर सकती है।

?? शैक्षिक समाचार ??*

नियम 118 – अध्ययन अवकाश के दौरान विश्रामकाल –

इस नियम के तहत कर्मचारी को अध्ययन अवधि के दौरान सरकार द्वारा 14 दिन का विश्रामकाल देय होता है।

* शैक्षिक समाचार *

39 thoughts on “अवकाश नियम

  1. Sir, I am teacher L-2 .I was on medical rest from 2 Oct to 15 Oct 2018 ,I joined on 16 th Oct 2018.my Peeo has stopped my Oct salary bill,saying that medical should be approved by collector Sahab.i request him that sir I was already on medical from 2oct &code of conduct was came in to force on 6 Oct18.i was not detailed any election duty.please help me sir ,is it any rules or code of conduct can imposed on back date.my no.7014088724

    1. आचार सहिता लगने से पूर्व ही मेडिकल अवकाश पर होंने से सम्बंधित प्रिंसिपल अवकाश स्वीकृत कर सकते है।
      यदि प्रिन्सिपल जी नही माने तो प्रकरण कलेक्टर के पास भिजवा देवे वहा से भी आसानी से लीव स्वीकृत हो जायेगी।
      अवकाश स्वकृति के बाद वेतन भी बन जायेगा??

      1. Sir mai one month medical par raha hu
        Mera vetan mere khata me chhuti nahi hone ke karan nahi bana raha hai
        Kya medical awkash ka vetan arjit awkash ke khate se diya jata hai

        1. आप मेडिकल की जगह उस अवकास को उपार्जित अवकास में परिवर्तित करवाकर वेतन ले सकते हो
          From
          Navneet Sharma
          Senior teacher
          kota

      2. क्या अध्यन अवकाश की अवधि में वेतन वृद्धि देय है या नहीं

        1. जब कार्यग्रहन करोगे तब देय होगी और लाभ भी कार्यग्रहन तिथि से देय होगा

  2. sir प्रोबेशन काल मे cl कब से कब तक मिलती ह व कब समाप्त होती हैं।

  3. Sir
    अभी मैं CCL पर हूँ।
    यदि मैं 24dec. को join न करके छुट्टी के बाद 8jan. को join करूं तो छुट्टी CCL में count होगी या attendance में।
    Please guide me
    Thanks
    Sir

  4. Sir,
    Probation me agar CL puri ho jaye. Or uske Baad without pay leave le sakte h kya
    Or yadi le sakte h to kitne dino ki le sakte h jisse probation period aage bhi nahi ade

    1. जी ले सकते है
      30 दिन तक परिवीक्षा काल आगे नही बढ़ता
      उससे ज्यादा जितने दिन की होगी उतने ही दिन आगे बढ़ेगा
      FROM SHREE NAVNEET SHARMA

  5. महिलाओं को 2साल से छोटे बच्चों के लिए स्तनपान हेतु 1 घंटे की छूट का आदेश है तो भेजने का कष्ट करें।

  6. Sir mene aacharsahita se pahle paternity leave ke liye apply Kiya tha ab bol rahe hai aacharsahita me leave Nahi do jati sir plz help me

  7. Sir mera selection level 2 me hua h. Me yadi probation period me 22 April se without pay 2 months leave leta hu to kya summer vacation bhi count hoga

    1. जी बिल्कुल होगा
      अगर आप 9 मई को जॉइन करके जाते हो अवकास पर तब नही होगा

      FROM SHREE NAVNEET SHARMA

  8. Sir,
    अगर किसी कर्मचारी का प्रोबेसन पूरा हो चुका लेकिन मेडिकल कर्मचारी के खाते मे नही जुड़ी है क्योकि कर्मचारी के खाते मे मेडिकल एक साल बाद मे जुड़ती हैi क्या कर्मचारी अपनी मेडिकल एडवांस मे ले सकता हैl अगर ले सकता है तो किस rule के तहत । क्रपया मार्गदर्शन करे।

    1. Ddo चाहे तो दे सकता है
      नेगेटिव में ली लिख देंगे सेवा पुस्तिका में ओर उन दिनों का वेतन देय नही होगा
      जब hpl खाते में जुड़ेगी तब उनसे लेप्स करके वेतन देय होगा

      FROM SHREE NAVNEET SHARMA

  9. Sir summer vacation mein Kiya kisi prakar ki leave sanction kareani padti hai.ya heaquarter chodne ki application dekar ja sakta hain.

  10. DDO कितने दिन का उपार्जित अवकाश PL एक साथ स्वीकृत कर सकता है

  11. Mera abi probation ktm hua in 2 sal m mere 26 medical lagaye or 8 day meri cl January to Des.count krne pr 8 cl extra ho gayi vese pure 2 sal ki joining to joining count krne pr 28 hi hoti h but new order k acording 8 cl extra h is prkar mere 2 sal m 26ml+8cl extra total 34 day hote h….Mere pichli sarvice raj.police ki 10 pl or 20hpl jma h to kya me unko le skta hu kya plz reply

  12. mene 20.12.16 se 6.7.18 tk adhayayn avkash liya. 20.12.16 ko 13690 ( 6th pay) basic thi. 1.1.17 ko 35800 (7th pay) le liya. 1.7.17 ko 36900 1.7.18 ko 38000. salary kese banegi?

  13. क्या एक दिन के चिकित्सा अवकाश लेने के लिए चिकित्सक का प्रमाण पत्र चाहिए?

  14. सर में पहले से स्थाई कर्मचारी हु और दूसरी सेवा में जाने पर दुबारा प्रोबेशन में पहले से अर्जित मेडिकल अवकाश लेने पर वेतन कटेगा क्या ।और मेडिकल अवकाश को उपार्जित में बदला जा सकता ह क्या।

  15. सर, में दूसरी बार प्रोबेशन में हूँ पहला प्रोबेशन में ने पूरा किया था और उसके मेडिकल भी सर्विस बुक में जमा ह तो अब में वो अवकाश बिना वेतन कटवाये ले सकता हूँ क्या । और क्या मेडिकल अवकाश को PL में बदला जा सकता ह क्या।

  16. Sir rajasv vibhag, uttar pradesh sarkar me leave without pay maximum kitne din, ak baar me kitne din, issuing authority related jaankari GO sahit bhejne ki kripa kare.

  17. दूसरी सर्विस के प्रोबेशन में पहली सर्विस के सर्विस बुक में जमा चिकित्सा अवकास ले सकते ह क्या और ले लिया मेडिकल को PL में बदल सकते ह क्या।

    1. पूर्व सेवा के अर्जित अवकास को नियंत्रण अधिकारी की अनुमति से लिया जा सकता है

      किसी भी अवकास की प्रवर्ती को 3 माह में परिर्वतन कर सकते है

  18. Sir , Mene Abhi c.cl avkash k liye apply Kiya tha ,qk mera bccha board class m h ,aur m ek single mother hu, pr DDO ne leave Dene se mna kr diya, please sir guide kre , m Kya kru , m bhut preshan hu

    1. आप कुछ नही कर सकते एक बार उच्चाधिकारियों को अवगत करवाए समस्या अगर वो स्वीकृत कर देवे तो अलग बात है
      नही तो मेडिकल लेकर बच्चे की तैयारी करवाए

  19. Sir mera provisnl time 21:07:2012 ko pura Ho gya h 23feb 2013 se 26feb2013 tk medical diya pr muje bina btaye ddo ne medical swikrit nae krte hue un 4 dino ka avaitnik swikrit kr rakha likh rakha h service book me ….. un 4.dino ka vetan kata gya b nae h……ase me muje ky krna chahiy? Or me future me kaha prabhavit ho skta hoo?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *